परिजनों ने लगाया तमंचे की नोक पर पीड़ित से पैसे मांगने और जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल कर गाली गलौज का आरोप..


भयभीत पीड़ित ने थाने में तहरीर देकर लगा इंसाफ की गुहार


बिहारीगढ़ समाचार

जनपद सहारनपुर के कस्बा बिहारीगढ़ में बुग्गावाला रोड पर स्थित संतोष मेडिकेयर सेंटर एंव अस्पताल में भर्ती संजीव पुत्र श्यामलाल की पत्नी शालू बीती रात उपचार के लिए गई थी अस्पताल संचालक ने पीड़ित को भरती करने के बाद उसका उपचार शुरू कर दिया।   कुछ समय बाद अस्पताल की नर्सों और डॉक्टरों ने पीड़ित परिवार को बताया कि इसका बड़ा ऑपरेशन होगा पीड़ित ने ऑपरेशन के लिए मना कर दिया और अपने मरीज को सहारनपुर में जाने की बात की इसी दौरान अस्पताल संचालक ने पीड़ित से ₹20000 जमा करने के बाद पीड़ित को वहां से भेजने के लिए कहा जैसे ही पीडित का पति घर पैसे लेने गया तो अस्पताल में भर्ती शालू के पति संजीव कुमार का आरोप है कि बिना हमारी सहमति के ही मेरी मां का अंगूठा जबरदस्ती लगवाकर उसका ऑपरेशन शुरु कर दिया और केस बिगड़ने के बाद जैसे ही हमारी नवजात बच्ची की हालत अधिक गंभीर हुई तो उसे यहां से ले जाने को कहा आनन-फानन में जैसे ही हम उसे ले जाने लगे तो अस्पताल में स्थित एक डॉक्टर ने पिस्टल दिखाकर पैसे मांगे और ना देने पर जान से मारने का प्रयास किया और जातिसूचक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए धमकी और गालियां दी। पीड़ित संजीव कुमार ने बताया मैं अपनी पत्नी को वही अस्पताल छोड़ कर अपनी नवजात बच्ची को सहारनपुर लेकर चला गया जहां पर डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। इस दौरान पीड़ित ने बताया अगर ज्यादा उछल कूद करेगा तो तुझे छेड़खानी के मुकदमे में पता कर जेल भिजवा दूंगी। पीड़ित ने पूरे घटनाक्रम की तहरीर बिहारीगढ़ थाने में दी और स्थानीय पत्रकारों को भी इसकी जानकारी देकर बाइट दी।