उत्तर प्रदेश सरकार ने मदरसों को लेकर बड़ा फैसला किया है. अब राज्य के मान्यता प्राप्त, सहायता प्राप्त और गैर-सहायता प्राप्त मदरसों में छात्रों को नए शैक्षणिक सत्र से कक्षाएं शुरू होने से पहले राष्ट्रगान गाना अनिवार्य होगा. सरकार के फैसले के तहत इसे अन्य दुआओं के साथ अनिवार्य कर दिया गया है. यही नहीं मदरसों की शैक्षिक गुणवत्ता को बढ़ाने के लिए टीईटी की तर्ज पर शिक्षकों की भर्ती के लिए मदरसा शिक्षक पात्रता परीक्षा (एमटीईटी) भी शुरू की जाएगी. जानकारी के मुताबिक अब आठवीं तक परीक्षाओं में विज्ञान, अंग्रेजी और गणित के सवाल भी शामिल किए जाएंगे.



असल में मदरसा शिक्षा परिषद के अध्यक्ष डॉ. इफ्तिखार अहमद जावेद की अध्यक्षता में गुरुवार को हुई बैठक मदरसों को लेकर बड़े किए गए हैं. जिसमें नए सत्र से कक्षाओं के शुरू होने से पहले राष्ट्रगान भी है. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक डॉ जावेद ने बताया कि बोर्ड के रजिस्ट्रार जल्द ही एमटीईटी को लेकर सरकार को प्रस्ताव भेजेंगे. ताकि मदरसों में नियुक्त होने वाले टीचर के लिए मानक तैयार हो सकें. डॉ जावेद ने बताया कि मदरसों में छात्रों की घटती संख्या को देखते हुए सहायता प्राप्त मदरसों में शिक्षक-छात्र अनुपात की जांच कराने का निर्णय लिया गया है. इसके साथ ही छात्रों के अनुपात से अधिक शिक्षक होने पर शिक्षकों को समायोजित किया जाएगा और अब मदरसों में बायोमेट्रिक अटेंडेंस सिस्टम लागू करने का भी फैसला किया गया है.