अफजल अली बेहट 

संगठन सृजन कार्यक्रम के अंतर्गत किया गया कार्यक्रम का आयोजन

न्याय पंचायत स्तर पर किया गया 5 सदस्य टीम का गठन


बेहट/सहारनपुर

कस्बा बेहट स्थित मास्टर जमील अहमद के प्रतिष्ठान पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के द्वारा कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें न्याय पंचायत एवं ब्लॉक संगठन के पदाधिकारियों की कमेटी का गठन किया गया।


कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कांग्रेस जिलाध्यक्ष चौ.मुजफ्फर तोमर ने कहां की आगामी त्रिस्तरीय चुनाव में पार्टी को मजबूती देने के लिए एवं पार्टी के प्रत्याशियों को विजयी बनाने के लिए जमीन से जुड़े कार्यकर्ताओं की अहम भूमिका है। एवं कांग्रेस संगठन को बूथ स्तर पर मजबूत बनाने के लिए व कांग्रेस की सत्ता वापसी के लिए प्रत्येक कार्यकर्ता को जी जान से जुड़ना है उन्होंने केंद्र और प्रदेश की भाजपा सरकार पर जमकर हमला बोलते हुए कहा कि आज केंद्र व प्रदेश सरकार में हर वर्ग परेशान है एवं सरकार के खिलाफ बोलने वाले व्यक्तियों को  झूठे मुकदमों में फंसाया जा रहा है भाजपा की गलत नीतियों से हर वर्ग परेशान है ऐसे में कांग्रेस कार्यकर्ताओं को सहानुभूति एवं जिम्मेदारी के साथ अपने कर्तव्य की जिम्मेदारी को समझना है एवं आने वाले चुनाव कांग्रेस समर्थित प्रत्याशियों को विजयी बनाना है। ताकि कांग्रेस पार्टी उत्तर प्रदेश एवं केंद्र में अपनी पूर्ण बहुमत की सरकार बना सकें एवं देश की जनता को जुमले बाजो से बचा सके क्योंकि आज भारतीय जनता पार्टी की सरकार में अधिकतर नेता जुमलेबाज बने हुए हैं धरातल स्तर पर उनका कोई अस्तित्व ही नहीं है। इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि कांग्रेस शासन में पेट्रोल डीजल व प्याज की कीमतों में मामूली वृद्धि होने पर भारतीय जनता पार्टी के सांसद विधायक एवं कार्यकर्ता हाथ में कटोरा लेकर सड़कों पर दरी बिछा कर बैठते थे लेकिन आज भाजपा शासन में वह लोग चुप्पी साधे हुए हैं महंगाई आसमान छू रही है डीजल पेट्रोल के दामों में लगातार वृद्धि सरकार की सह पर हो रही है। कांग्रेस शासन में डीजल पेट्रोल की ₹1 कीमत बढ़ने पर अन्य दलों के नेता हाथों में कटोरा लेकर सड़कों पर बैठ जाते थे। लेकिन आज बढ़ती महंगाई पर कोई भी बोलने को तैयार नहीं है इसका कारण यह है कि केंद्र व प्रदेश के सरकार उद्योगपतियों एवं कारोबारीयो की जागिर बनी हुई है।

 इतना ही नहीं केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकार में देश का अन्नदाता आज खून के आंसू  व आत्मह्त्या करने को मजबूर है क्योंकि किसानों पर तीन काले कानून थोप दिए गए है। जिनका कोई अस्तित्व ही नहीं है।

केंद्र व प्रदेश सरकार को नहीं तो किसान की फिक्र है ना ही मजदूर की फिक्र है केवल अपनी फिक्र है व बड़े कारोबारियों व उद्योगपतियो आखिर ऐसी सरकार किस वर्ग का भला कर सकती है।


कार्यक्रम में मुख्य रूप से राहत खलील, ब्लॉक अध्यक्ष चौधरी हाशिम, सोनू प्रधान पाडली, आशू सैनी मंझाड़ी, डॉ मेघराज सिंह, रिजवान मलिक लाला, नसीम अहमद, मुस्तकीम प्रधान,व सुफियान अहमद सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहे।