सहारनपुर के लाल ने रच दिया इतिहास

भारतीय इतिहास में पहली बार किसी चोटी पर इतना बड़ा तिरंगा लहराया गया


पर्वतारोहण में अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक बार फिर चमका सहारनपुर का नाम


सहारनपुर/उत्तर प्रदेश

माउंट स्टोक कांगड़ी फतेह कर वर्ल्ड रिकॉर्ड में नाम दर्ज करने वाले सहारनपुर के पर्वतारोही रिहान नदी में एक बार फिर इतिहास रच दिया है जिन्होंने भारत की एक और खतरनाक चोटी माउंट फ्रेंडशिप को 21 अक्टूबर को 10:49 पर फतह किया है और इस चोटी पर 50 फीट का भारतीय ध्वज फहरा कर इतिहास रच दिया है।

50 फ़ीट भारतीये ध्वज  जो भारतीय इतिहास में किसी चोटियों पर फहराए गए  ध्वजों में अब तक का सबसे बड़ा ध्वज है।

इडियन एडवेंचर फाउंडेशन के 5 पर्वतारोही आकांक्षा, रिहान अली,, प्रशांत,,छेरिंग,, संजय सिंह, ने 18 अक्टूबर को माउंट फ्रेंडशिप पर चढ़ाई शुरू की थी। जिनका पहला पड़ाव कैम्प 1 मे हुआ, और दूसरे दिन अपने पूरे इक्विपमेंट,, व समान के साथ बेस कैंप पहुंचे। आपको बता दे इन पांचों पर्वतारोहियो ने ये मिशन एलपाइन( बिना किसी गाइड) के पूरा किया।

बेस कैम्प से एडवांस कैम्प पहुचं कर पांचों ने 21 अक्टूबर को सुबह 4: 30 पर फतह के लिए चढ़ाई शुरू की और मुश्किल हालात का सामना करते हुए  सुबह 10 बजकर 49 मिनट पर 5258 mtr की ऊंची चोटी माउंट फ्रेंडशिप फतह की और चोटी पट 50 फ़ीट का झंडा लहराकर इतिहास रच दिया 

भारतीये इतिहास में इतना बड़ा भारतीये ध्वज किसी चोटी पर पहली बार लहराया गया है।

इस मिशन में इंडियन एडवेंचर फाउंडेशन ने 4 राज्यो को चयनित किया जिसमें हिमाचल प्रदेश से छेरिंग,, उत्तर प्रदेश से रिहान अली,, राजस्थान से आकांक्षा और संजय सिंह,, ओडिशा से प्रशांत,, ने प्रतिभाग किया।

चोटी फतह कर पांचों पर्वतारोहियो ने 50 फ़ीट का भारतीये ध्वज फहराया कर भारत भारत का नाम अंतरराष्ट्रीय स्तर पर रोशन किया।

पर्वतारोही रिहान अली की चोटी फतह की खबर सुनते ही सहारनपुर वासियों में खुशी की लहर दौड़ गई सब एक दूसरे को बधाई देकर खुशियां मनाने लगे।