नई दिल्ली::::: कोरोना वायरस के चलते आज लगभग सभी क्षेत्र प्रभावित है, फिर चाहे वह राष्ट्रीय हो राज्य स्तरीय हो या अंतरराष्ट्रीय सभी क्षेत्रों में कोरोना का प्रभाव जारी है, इसी बीच देशभर में अर्थव्यवस्था को चलाने के लिए धीरे -धीरे सभी क्षेत्रों को खोला जा रहा है, काम फिरसे शुरू किया जा रहा है, कई क्षेत्रों के कार्य खोल भी दिए गए है, ऐसे में बच्चों के स्कूल उनकी पढ़ाई को लेकर भी बड़ा सवाल खड़ा हुआ है, लेकिन इन हालातों के बीच अब केंद्र सरकार दोबारा से स्कूल खोलने की योजना पर काम कर रही है आपको बता दें देश भर में संक्रमित का आंकड़ा  20,लाख  के ऊपर पहुंच चुके हैं।

वही एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार 1 सितंबर से 14 नवंबर के बीच चरणबद्ध तरीके से स्कूल और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को फिर से खोले जाने की योजना बनाई गई है, आपको बता दें कि कोरोना के कहर के कारण मार्च के आखिरी हफ्ते से सभी स्कूल कॉलेज बंद है।

आपको बता दें कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए केंद्र सरकार ने मंत्रियों का एक समूह बनाया था, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ हर्षवर्धन के नेतृत्व में इस समूह की बैठक हुई, जिसमें मंत्रियों के समूह से जुड़े सचिवों के समूह द्वारा स्कूल खोलने की योजना के तौर-तरीकों पर विस्तार से चर्चा हुई, एक रिपोर्ट के अनुसार स्कूल को खोलने को लेकर फैसले के बारे में इस महीने के अंत तक सरकार दिशा निर्देश जारी कर सकती है, अंतिम निर्णय राज्य सरकारपर छोड़ा जायेगा छात्रों की स्कूल में वापसी और कक्षा के संचालन केसे होना है यह सभी निर्णय राज्य सरकार का होगा, हेतु अगले अनलॉक की गाइड लाइन में स्कूल खुलने की संभावना 1 सितंबर से लागू होगी।