हरिद्वार:::: बाबा राम देव ने आज यानि मंगलवार को कोरोना की आयुर्वेदिक दवा कोरोनिल लॉन्च की, और सभी की उम्मीद को प्रोत्साहन दिया, लेकिन केंद्र सरकार ने राम देव बाबा को एक बड़ा झटका दे दिया है , और फ़िलहाल दवा के विज्ञापन पर रोक लगा दी है। आयुष मंत्रालय ने पतंजलि योगपीठ को एक बड़ा झटका देते हुए कहा की जब तक इस पुरे मुद्दे की जाँच नहीं हो जाती तब तक आप इस दवा का प्रचार नहीं कर सकते ,

▶बताया जा रहा है की आयुष मंत्रालय का कहना है की उसे इस बात की जानकारी नहीं है की किस तरह के वैज्ञानिक अध्ययन के बाद दवा बनाने का दावा किया गया है ,  मंत्रालय का कहना है की पहले इससे जुडी पूरी जानकारी मांगी गयी है, और जाँच तक इस दवा के प्रचार पर रोक लगा दी गयी है।
▶एक तरफ पूरी दुनिया कोरोना वायरस की वैक्‍सीन खोजने में जुटी है। वही दूसरी तरफ योग गुरु बाबा रामदेव ने मंग्लवार को कोरोना की आयुर्वेदिक दवा कोरोनिल लॉन्च की. उन्होंने कोरोनिल टेबलेट से कोरोना के मरीजों के ठीक होने का दावा किया. 
▶रामदेव ने कहा कि कोरोना की दवा पर दो बार ट्रायल हुआ है.  
▶100 लोगों पर दवा का क्लीनिक ट्रायल किया गया है. 3 दिनों के भीतर 100 में 69% मरीज पॉजिटिव से निगेटिव हुए. 7 दिनों के भीतर 100% मरीज ठीक हुए हैं। बाबा रामदेव ने कहा कि दिल्ली से लेकर कई शहरों में हमने क्लिनिकल कंट्रोल स्टडी किया. इसके तहत हमने 280 रोगियों को सम्मिलित किया. क्लिनिकल स्टडी के रिजल्ट में 100 फीसदी मरीजों की रिकवरी हुई और एक भी मौत नहीं हुई. कोरोना के सभी चरण को हम रोक पाएं. दूसरे चरण में क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल किया गया।