▶मनरेगा योजनान्तर्गत 15 जून तक 1 लाख मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराया जाये !कैबिनेट मंत्री मोती सिंह

▶राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत गठित स्वयं सहायता समूहों को रोजगार उपलब्ध कराने की दृष्टि से मिड-डे-मील, राशन की दुकान आदि कार्यो को किया जायेगा आवंटित-कैबिनेट मंत्री मोती सिंह

 ▶प्रदेश के ग्राम्य विकास एवं समग्र ग्राम विकास विभाग मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह ‘‘मोती सिंह’’ ने आज पुलिस लाईन के सईं काम्प्लेक्स के सभागार में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम तथा श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराये जाने हेतु जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार एवं पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारियों के साथ समीक्षा की। ▶प्रारम्भ में कैबिनेट मंत्री मोती सिंह ने पुलिस लाइन प्रांगण में सलामी ली। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा अवगत कराया है कि कोरोना संक्रमण के बचाव एवं रोकथाम हेतु शासन के निर्देशानुसार निरन्तर प्रभावी कार्यवाही की जा रही है, लगभग 60 हजार प्रवासी श्रमिक/कामगार जनपद में आये है जिन्हें होम क्वारेन्टाइन रखा गया जिन पर निगरानी के लिये ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम प्रधान की अध्यक्षता में ग्राम निगरानी समिति तथा नगरीय क्षेत्र में सभासद की अध्यक्षता में मोहल्ला निगरानी समिति के माध्यम से सतर्क दृष्टि रखी जा रही है। आशा, ए0एन0एम0 एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री के माध्यम से इनके स्वास्थ्य की प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है तथा शासन के निर्देशानुसार सैम्पलिंग का कार्य किया जा रहा है। 

▶जनपद में अब तक कुल 94 कोरोना पाजिटिव केस पाये गये है जिनमें से 79 मरीज स्वस्थ्य हो चुके है तथा 11 मरीजों का ईलाज चल रहा है तथा जनपद में 16 हॉटस्पाट क्षेत्र है। 
 ▶बैठक में कैबिनेट मंत्री मोती सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु कारगार प्रयास किये जा रहे है जिससे परिणाम स्वरूप में जनपद में संक्रमितों की संख्या एवं रिकवर होने का अनुपात प्रदेश के अन्य जनपदों की तुलना में बेहतर है। उन्होने स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया कि स्वास्थ्य टीमों के माध्यम से नियमित रूप से सैम्पलिंग की जाये तथा संक्रमित पाये गये लोगों का शासन से निर्धारित स्वास्थ्य प्रोटोकाल के अनुसार ईलाज कराया जाये।
▶इसके साथ ही मंत्री जी ने कहा कि 15 जून तक प्रदेश में मा0 मुख्यमंत्री जी ने 1 करोड़ श्रमिक/कामगारों को रोजगार उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया है जिसके तहत जनपद प्रतापगढ़ में 1 लाख श्रमिक/कामगारों को रोजगार उपलब्ध कराया जाये। इसी तरह प्रधानमंत्री आवास की समीक्षा करते हुये परियोजना निदेशक डी0आर0डी0ए0 को निर्देशित किया कि आवास प्लस के अन्तर्गत जनपद में आवास हेतु अवशेष पात्र लाभार्थियों की सूची तैयार कर ली जाये ताकि भारत सरकार की अनुमति प्राप्त होते ही सभी को प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत आवास की सुविधा करायी जाये। परियोजना निदेशक द्वारा बताया गया कि जनपद में 2 लाख 32 हजार 253 पात्र लाभार्थियों का सर्वे कराया गया है 
▶जिसमें से 58 हजार 844 लाभार्थियों की आधार फीडिंग करायी जा चुकी है। प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत वर्ष 2016-17 से वर्ष 2019-20 तक जनपद प्रतापगढ़ में अब तक 62696 आवास का लक्ष्य प्राप्त हुआ था जिसके सापेक्ष 61930 आवास का निर्माण पूर्ण कराया जा चुका है, अवशेष आवासों का निर्माण कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत 1095 आवास के सापेक्ष 1000 आवास का निर्माण करा लिया गया है। डी0सी0 मनरेगा अजय पाण्डेय द्वारा अवगत कराया गया कि 82 हजार श्रमिक इस समय जनपद में मनरेगा योजनान्तर्गत कार्य कर रहे है, कैबिनेट मंत्री ने कहा कि 15 जून तक 1 लाख मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराया जाये तथा प्रवासी मजदूरों को जॉब कार्ड निर्गत किया जाये और उन्हें न्यूनतम 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराया जाये। 
▶योजनान्तर्गत धन की कोई कमी नही है इसलिये कोई भी इच्छुक श्रमिक/कामगार रोजगार से वंचित न रहे। समीक्षा में डी0सी0एन0आर0एल0एम द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से मास्क एवं सेनेटाइजर का निर्माण कराया जा रहा है। कैबिनेट मंत्री ने निर्देशित किया कि आगामी दिनों में स्वयं सहायता समूहों को मिड-डे-मील, राशन की दुकान आदि कार्य भी दिया जा सकता है, 
▶इसलिये स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को सशक्त बनाये तथा उचित प्रशिक्षण की व्यवस्था सुनिश्चित करें। जिला विकास अधिकारी को निर्देश दिया गया कि जिन विकास खण्डों का भवन जीर्ण-शीर्ण है वहां नये भवन निर्माण हेतु शासन को प्रस्ताव प्रेषित करें।