Breaking News
Loading...
Share It

Contact Form

Name

Email *

Message *

AD
AD

Search This Blog

🇹​🇦​🇧​🇷​🇪​🇿​ 🇦​🇦​🇱​🇦​🇲​ 🇦​🇲​🇮​🇷​🇮​ⒽⒾⓃⒹⓊⓈⓉⒶⓃ ⓁⒾⓋⒺ ⓉⓋ . Powered by Blogger.

Sunday, 28 June 2020

राईन युवाा जागृति मंच संगठन युवाओं में समाज सेवा के प्रति कार्य कर रहा है-अब्दुल बारी राईन राष्ट्रीय कोषा अध्यक्ष
June 28, 2020 by

सामाजिक बदलाव लाने युवाओं में दिख रहा जुनून ➡{अब्दुल कुददुस राईन राष्ट्रीय अध्यक्ष}


राईन युवा जागृति मंच भी भविष्य में समाज के प्रति कुछ कर गुजरने की तमन्ना लिए संगठन के माध्यम से ही गांव में कई तरह के काम कर लोगों में जागरूकता पैदा कर रहा हैं

▶युवाओं के इन क्रियाकलापों से इस बात की पुष्टि तो हो ही जाती है कि वे सामाजिक बदलाव चाहते हैं ताकि एक शिक्षित समाज से देश विकास की ओर अग्रसित हो सके।
युवा पीढ़ी एकजुट होकर सामाजिक बदलाव लाने का प्रयास कर रहे हैं। युवाओं का यह प्रयास समाज व देश हित के लिए कारगर साबित होगा। युवा अपने अधिकारों व कर्तव्यों से बखूबी वाकिफ हैं और समाज की दशा व दिशा में बदलाव लाने क्रांति का आगाज करने में लगे हैं। समाज व देश के उत्थान में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका को समझते हुए सामाजिक बदलाव की परिकल्पना लिए नीत नए काम को गति प्रदान करने में जुटे हैं।
सहारनपुर जिले के ब्लॉक मुजफ्फराबाद पंचायत से सामाजिक कल्याण एवं जागरूकता के उद्देश्य से गठित हुआ यह राईन युवा जागृति मंच आज सबके लिए एक प्रेरणा स्रोत बनकर उभरा है. यह मंच  युवाओं में समाज सेवा के प्रति जुनून भरने का कार्य कर रहा है.
इस मंडल की लोकप्रियता अब पूरे राईन समाज के युवाओं में बढ़ चुकी है, समाज और भविष्य के प्रति जागरूक करना, स्वच्छता अभियान, सांसे हो रही है कम आओ पेड़ लगाए हम, भांग उखाड़ो अभियान, अपनी प्रकृति को आग से बचाना, जागरूकता अभियान का आयोजन करना तथा अनेकों अन्य काम है जो जमीनी स्तर पर प्रगति युवक  के सदस्य निरंतर कर रहे हैं.
वहीं राईन समाज के युवाओं को राईन युवा जागृति मंच में एकत्रित होकर काम करने को कहा साथ ही लॉकडाउन का पूर्ण रूप से पालन करने को कहा


Saturday, 27 June 2020

रामदेव बाबा समेत चार पर एफआईआर दर्ज राम देव बाबा ने किया था कोरोना दवा को लॉन्च खुलासा:
June 27, 2020 by

▶कोरोना की दवा के भ्रामक प्रचार के आरोप में बाबा रामदेव समेत अन्य 4 के खिलाफ केस दर्ज!


दवाई को कोरोना के गंभीर मरीजों पर टेस्ट नहीं किया गया


सिर्फ इन मरीजों पर ही किया गया था टेस्टबाबा का दवा:  69 % रिकवरी शुरुआती 3 दिन और 100 % 7 दिन में


 H. Live Tv News:  कोरोना वायरस की दवा लॉन्च करने के  बाद से बाबा रामदेव चर्चाओं में है, बाबा रामदेव के साथ साथ उनकी कंपनी पतंजलि भी विवादों  रही है,  दवा लॉन्च करने  के बाद शाम तक आयुष मंत्रालय ने इस दवा पर रोक लगा दी, 

जिससे रामदेव बाबा को एक बड़ा झटका लगा, इसके बाद से उत्तराखंड आयुष विभाग ने भी रामदेव बाबा को एक बड़ा झटका दिया। वही अब  कोरोनिल दवा को लेकर बाबा राम देव समेत चार अन्य के खिलाफ राजस्थान की राजधानी जयपुर में एफआईआर दर्ज कराई गई है. 

यह केस  कोरोना वायरस की दवा के तौर पर कोरोनिल को लेकर भ्रामक प्रचार करने के आरोप में दर्ज कराया गया है. कोरोना के खिलाफ भ्रामक दवाई के प्रचार करने में बाबा रामदेव,बालकृष्ण व वैज्ञानिक अनुराग वार्ष्णेय, निम्स के अध्यक्ष डॉ. बलबीर सिंह तोमर और निदेशक डॉ. अनुराग तोमर  पर केस दर्ज किया गया है। एफआईआर आईपीसी की धारा 420 सहित विभिन्न धाराओं के तहत दर्ज की गई है.


राम देव बाबा ने किया था कोरोना दवा को लॉन्च


दुनिया के कई बड़े देश कोरोना की दवा बनाने में जुटे है।  भारत में भी जोर शोर से कोरोना का इलाज खोजा जा रहा है, लेकिन अभी तक किसी को भी दवा बनाने में कामयाबी नही मिली है। इसी बीच मंगलवार को योगगुरु रामदेव ने कोरोना की दवा 'दिव्य कोरोनिल टैबलट' को लॉन्च करते हुवे दावा किया कि इसके सेवन से कोरोना 7 दिन में 100 प्रतिशत ठीक हो जाएगा। सोशल मिडिया पर इस दवा का खूब प्रचार प्रसार होने लगा लेकिन शाम होते होते आयुष मंत्रालय ने बाबा रामदेव की दवा के प्रचार प्रसार पर रोक लगा दी और पतंजलि से कोरोनिल की पूरी जानकारी मांगी है.


खुलासा:  दवाई को कोरोना के गंभीर मरीजों पर टेस्ट नहीं किया गया


पतंजलि द्वारा आयुष मंत्रालय को दी गई जानकारी में जो खुलासा हुआ है वह बेहद चौंकाने वाला है, पतंजलि ने आयुष मंत्रालय को पत्र दाखिल कर ये जानकारी दी है कि पतंजलि की इस दवाई को कोरोनावायरस से पीड़ित किसी गंभीर मरीज पर टेस्ट नहीं किया गया बल्कि सिर्फ उन लोगों पर टेस्ट किया गया है जिनमें कोरोनावायरस के बहुत मामूली लक्षण थे।  यानी कि बाबा रामदेव ने दवाई तो जोर शोर से लांच कर दी लेकिन इतनी बड़ी जानकारी छुपाई रखी और 100% मरीजों के ठीक होने का दावा भी कर डाला।


सिर्फ इन मरीजों पर ही किया गया था टेस्ट


पतंजलि ने आयुष मंत्रालय में को जो पत्र दाखिल किया है उसमें यह बताया है कि करोनिल का क्लीनिकल टेस्ट 120 ऐसे मरीजों पर किया गया है, जिनमें कोरोनावायरस के लक्ष्ण काफी कम थे।  इन मरीजों की उम्र 15 से 80 साल के बीच थी।  करोनिल दवा को कोरोना के गंभीर मरीजों पर टेस्ट नहीं किया गया था।  यह बात आयुष मंत्रालय को सौंपी अपनी रिपोर्ट में खुद पतंजलि ने स्वीकार की है।


पतंजलि रिसर्च फाउंडेशन ट्रस्ट की ओर से मंत्रालय को बताया गया कि यह क्लीनिकल ट्रायल जयपुर के नेशनल इंस्टिट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च में किया गया था। पतंजलि का यह भी कहना है कि उन्होंने हर नियम का पालन किया,साथ ही आयुर्वैदिक साइंस सेंट्रल काउंसिल के डीजी को लूप में रखा था।  

इस रिपोर्ट में बताया कि दवा का पहला क्लिनिकल ट्रायल एक मरीज पर 29 मई को किया गया, इसमें 69 फीसदी  रिकवरी शुरुआती 3 दिन और 100 फ़ीसदी रिकवरी 7 दिनों में किए जाने का दावा है।
यानि बाबा रामदेव ने बिना कोरोना के गंभीर मरीजों पर कोरोनिल दवा का टेस्ट किए 100% ठीक होने का दावा ठोक दिया।

Thursday, 25 June 2020

दरभंगा राईन समाज की नाबालिग लड़की से दुष्कर्म
June 25, 2020 by

🌀नारायणपुर थाना मनीगाछी  दरभंगा राईन समाज की नाबालिग लड़की से दुष्कर्म किया! 

▶पीड़ित ने मनीगाछी थाना में रिपोर्ट दर्ज करानी चाही थानेदार ने  केस दर्ज नही किया और अभियुक्त से पैसा ले लिया, फिर ये लोग महिला थाना गए, वहां भी महिला थाना अध्यक्षका ने न नकुर कर पैसा लेकर केस दर्ज 20/20 दर्ज तो कर ली, लेकिन महिला थाना ने अभियुक्त के परिवार वालो से मिलकर  मोटी रकम ले कर दुष्कर्म पीड़िता को 5 दिन तक रख कर उसको नहला धौला कर दूसरा कपड़े पहना कर मोटी रकम ले कर मेडिकल रिपोर्ट को बदल दिया और पास्को एक्ट नही लगाया,और अभियुक्त को खुला छूट दे रखा था

▶जब दुष्कर्म पीड़िता के माँ बाप हमसे  इंसाफ मंच के उपाध्यक्ष नेयाज़ अहम्मद से मिलने आए और बताया कि ऐसे ऐसे महिला थाना ने मुझसे 26 हज़ार केस लिखने का ले लिया और बोला  कि तुम लोग अपनी बेटी का धंधा करवाते हो , हलाला करवाते हो।तब हमने महिला थाना से जब पूछा तो वो बोली कि चार्जशीट भेज चुके है अभियुक्त की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी कर रहे है।उसके बाद SP से मुलाक़ात किया।और उसको गिरफ्तार किया और फिर इंसाफ मंच के बैनर से खुद की अध्यक्षकता मे IG साहब का घेराव करवाया जिसमे राईन समाज के लोगो के साथ समाज के अमन पसंद लोग सभी जाति के लोग सम्मलित होकर पुरजोर आवाज़ के साथ धरना दिया गया। क्योंकि आरोपी और थानेदार दुष्कर्म पीड़िता के घर जा जा कर उनके परिवार को धमकी दिया करते है कि केस वापस लो नही तो सब को मार देंगे, जिसके लिए पीड़िता की सुरक्षा की गारंटी की मांग रखे है।और प्रशासन पर दवाब बना कर पास्को के साथ CDR कॉल डिटेल्स निकालने की प्रक्रिया चल रही है।I G ने  इस आश्वासित किया है।की एक सप्ताह मे बाकी अभियुक्तों को भी गिरफ्तार करेंगे! 

Tuesday, 23 June 2020

रामदेव बाबा को लगा बड़ा झटका, सरकार ने पतंजलि कोरोना वायरस दवा के विज्ञापन पर लगाई रोक!
June 23, 2020 by

हरिद्वार:::: बाबा राम देव ने आज यानि मंगलवार को कोरोना की आयुर्वेदिक दवा कोरोनिल लॉन्च की, और सभी की उम्मीद को प्रोत्साहन दिया, लेकिन केंद्र सरकार ने राम देव बाबा को एक बड़ा झटका दे दिया है , और फ़िलहाल दवा के विज्ञापन पर रोक लगा दी है। आयुष मंत्रालय ने पतंजलि योगपीठ को एक बड़ा झटका देते हुए कहा की जब तक इस पुरे मुद्दे की जाँच नहीं हो जाती तब तक आप इस दवा का प्रचार नहीं कर सकते ,

▶बताया जा रहा है की आयुष मंत्रालय का कहना है की उसे इस बात की जानकारी नहीं है की किस तरह के वैज्ञानिक अध्ययन के बाद दवा बनाने का दावा किया गया है ,  मंत्रालय का कहना है की पहले इससे जुडी पूरी जानकारी मांगी गयी है, और जाँच तक इस दवा के प्रचार पर रोक लगा दी गयी है।
▶एक तरफ पूरी दुनिया कोरोना वायरस की वैक्‍सीन खोजने में जुटी है। वही दूसरी तरफ योग गुरु बाबा रामदेव ने मंग्लवार को कोरोना की आयुर्वेदिक दवा कोरोनिल लॉन्च की. उन्होंने कोरोनिल टेबलेट से कोरोना के मरीजों के ठीक होने का दावा किया. 
▶रामदेव ने कहा कि कोरोना की दवा पर दो बार ट्रायल हुआ है.  
▶100 लोगों पर दवा का क्लीनिक ट्रायल किया गया है. 3 दिनों के भीतर 100 में 69% मरीज पॉजिटिव से निगेटिव हुए. 7 दिनों के भीतर 100% मरीज ठीक हुए हैं। बाबा रामदेव ने कहा कि दिल्ली से लेकर कई शहरों में हमने क्लिनिकल कंट्रोल स्टडी किया. इसके तहत हमने 280 रोगियों को सम्मिलित किया. क्लिनिकल स्टडी के रिजल्ट में 100 फीसदी मरीजों की रिकवरी हुई और एक भी मौत नहीं हुई. कोरोना के सभी चरण को हम रोक पाएं. दूसरे चरण में क्लिनिकल कंट्रोल ट्रायल किया गया।

अब पासपोर्ट बनाने के लिए राशन कार्ड भी मान्य, बदल गए कई नियम।
June 23, 2020 by

देहरादून::::: आज हम आपको एक काम की खबर बताने जा रहे है अब पासपोर्ट बनाना आसान हो गया है। बकायदा विदेश मंत्रालय के निर्देश पर उत्तराखंड क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय नें दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं। अब पासपोर्ट बनाने के लिए एड्रेस और आईडी प्रूफ के रूप में राशन कार्ड भी मान्य होगा। जी हां अब पासपोर्ट बनाने के लिए एड्रेस और आईडी प्रूफ के तौर पर राशन कार्ड भी मान्य होगा। विदेश मंत्रालय के आदेश पर उत्तराखंड क्षेत्रीय पासपोर्ट कार्यालय ने इस बारे में दिशा-निर्देश जारी कर दिए हैं।

▶अभी तक पासपोर्ट बनाने के लिए एड्रेस प्रूफ के तौर पर ड्राइविंग लाइसेंस, आधार कार्ड, किरायानामा, गैस कनेक्शन, बिजली का बिल आदि मान्य होते थे। इसी के साथ आईडी प्रूफ के तौर पर केंद्र और राज्य सरकार के मान्यता प्राप्त फोटो युक्त आई कार्ड मान्य होता था।
लेकिन अब उत्तराखंड में नए नियमों के तहत विदेश मंत्रालय ने राशन कार्ड को भी एड्रेस प्रूफ के रूप में मान्य कर दिया है। इसके अलावा सत्यापित फोटोयुक्त राशन कार्ड को आईडी प्रूफ के रूप में भी पासपोर्ट आवेदन के साथ लगाया जा सकता है। क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी ऋषि अंगरा ने बताया कि उत्तराखंड में भी इस नियम को लागू कर दिया गया है।

वीडियो कांफ्रेंसिंग से बात करेंगे विदेश मंत्री


▶पासपोर्ट दिवस पर 24 जून को विदेश मंत्री हर बार क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारियों को दिल्ली बुलाकर संबोधित करते रहे हैं। इस बार कोरोना संकट के मद्देनजर विदेश मंत्री सभी क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए संवाद करेंगे।

तत्काल पासपोर्ट के लिए आवेदन शुरू


▶मंत्रालय के निर्देश पर मंगलवार से तत्काल पासपोर्ट के लिए आवेदन और बायोमीट्रिक सत्यापन भी शुरू कर दिया गया। इसके लिए कल दोपहर बाद मंत्रालय के आदेश मिलते ही पासपोर्ट इंडिया की अधिकृत वेबसाइट पर अप्वाइंटमेंट का ऑप्शन खोल दिया गया है।

Sunday, 21 June 2020

भारत देश में बनी कोरोना वायरस की दवाई कीमत मात्र 103 रुपए गोली
June 21, 2020 by

फेबीफ्लू: कोरोना की दवाई को केंद्र की मंजूरी, इलाज के लिए ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने बनाई दवा


🌀कोरोना वायरस के उपचार के लिए दवा कंपनी ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स की दवा को इस्तेमाल किया जाएगा। कंपनी के अनुसार कोरोना वायरस के हल्के संक्रमण से पीड़ित मरीजों पर इस दवा ने अच्छे नतीजे दिए।


▶ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स को केंद्र सरकार से मंजूरी भी मिल गई है। कोरोना के हल्के लक्षण वाले मरीजों को अब ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स की दवा दी जा सकेगी।
ग्लेनमार्क फार्मास्युटिल्स के चेयरमैन और प्रबंध निदेशक ग्लेन सल्दान्हा के अनुसार कंपनी ने कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों के इलाज के लिए एंटीवायरल दवा फेविपिराविर को फेबीफ्लू ब्रांड नाम से पेश किया है।

➡आपको बता दें कि ग्लेनमार्क को 19 जून को केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन (सीडीएससीओ) की ओर से फेविपिराविर या फेबीफ्लू को बनाने और बेचने विनिर्माण की मंजूरी दी गई है।


▶फेबीफ्लू खाने वाली दवा है और इलाज का सुविधाजनक विकल्प है। कंपनी सरकार और चिकित्सा समुदाय के साथ मिलकर काम करेगी ताकि देश में मरीजों को आसानी से यह दवा मिल सके।
फैबिफ्लू कोविड-19 के इलाज के लिए खाने वाली पहली फेविपिरविर दवा है, जिसे केंद्र सरकार की मंजूरी मिली है। यह दवा लगभग 103 रुपये प्रति टैबलेट की दर से बाजार में उपलब्ध होगी। 


▶ग्लेनमार्क फार्मास्युटिकल्स ने कहा कि यह दवा 34 टैबलेट की स्ट्रिप के लिए 3,500 रुपये के अधिकतम खुदरा मूल्य (एमआरपी) पर 200 मिलीग्राम टैबलेट के रूप में उपलब्ध होगी।

Thursday, 18 June 2020

AIMIM के सहारनपुर जिला अध्यक्ष चौधरी इजहार बबलू ने पुलिस उपमहानिरीक्षक से मुलाकात कर न्यूज़ 18 इंडिया के पत्रकार / एंकर अमीश देवगन के खिलाफ तहरीर देकर रिपोर्ट दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाने की मांग की
June 18, 2020 by

AIMIM के सहारनपुर जिला अध्यक्ष चौधरी इजहार  बबलू ने पुलिस उपमहानिरीक्षक से मुलाकात कर न्यूज़ 18 इंडिया के पत्रकार / एंकर अमीश देवगन के खिलाफ तहरीर देकर रिपोर्ट दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाने की मांग की

▶जिला अध्यक्ष चौधरी इजहा बबलू  ने प्रार्थना पत्र देकर कहा 15/6/2020 सोमवार को समय शाम 7 बजे न्यूज़-
18 इंडिया के कार्यक्रम आर -पार में न्यूज़ चैनल के पत्रकार  एंकर अमीश देवगन ने मुस्लिम समाज के विश्वप्रसिद्ध धर्मगुरु सूफी ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती रहमतुल्लाह की शान में भड़काऊ टिप्पणी की है जिससे मेरी व मेरे समाज के करोड़ों लोगों की धार्मिक भावनाएं आहत हुई हैं समाज में भयनकर देूष व रोज का वातावरण उत्पन्न हो रहा है यह कि पत्रकार अमीश देवगन का कीर्ति समाज को तोड़ने वाला समाज के धर्म के आधार पर सांप्रदायिक वेमस्ये नफरत फैलाने वाला है 
▶जिलाध्यक्ष चौधरी इजहार बबलू ने यह भी कहा की न्यूज़ 18 इंडिया लगातार अपने न्यूज़ चैनल न्यूज़-18 इंडिया के भारतवर्ष में मुस्लिम धर्म के खिलाफ लगातार प्रचार कर रहा  है न्यूज़ -18 इंडिया का पत्रकार/ एंकर अमीश देवगन लगातार देश विरोधी में संविधान विरोधी कार्य कर रहा है तथा देश में सांप्रदायिक दंगे कराने का पर्यंत रच रहा है  
▶इसलिए अमित देवगन ने ख्वाजा मोइनुद्दीन चिश्ती रहमतुल्लाह की शान में भड़काऊ टिप्पणी की है उसकी पुरजोर निंदा करते हैं और इस पत्रकार अमीश देवगन की गिरफ्तारी की मांग करते हैं 
▶इस अवसर पर जिला महासचिव मास्टर राशिद खान / कारी मुस्तकीम जिला सचिव हाजी सलमान खान जिला कोषाध्यक्ष  मोहम्मद आजम सहारनपुर विधानसभा अध्यक्ष सलमान फारसी जिला कार्यकारिणी  सदस्य/ परवेज मुस्तकीम जिला कार्यकारिणी सदस्य आदि उपस्थित रहे

Wednesday, 17 June 2020

मुजफ्फराबाद पुलिस का चाट रेहड़ी वालो पर सितम , सब्जी मंडी वालो पर करम ,,,,,सब्जी मंडी में उड रहीं लॉक डाउन,सोशल डिस्टनसिंग की धज्जियां।
June 17, 2020 by

✍रिपोर्ट-अब्दुल बारी राईन

🔷मुजफ्फराबाद पुलिस का चाट रेहड़ी वालो पर सितम ,सब्जी मंडी वालो पर करम
🔷सब्जी  मंडी में उड रहीं लॉक डाउन,सोशल डिस्टनसिंग की धज्जियां।


▶एक ओर शासन प्रशासन लॉकडाउन का पालन कराने को हर संभव प्रयास कर रहा है की लोग सजग रहे और नियमो का पालन करते हुए कोरोनॉ महामारी से बचे रहे 
परन्तु छुटमलपुर, कलसिया रोड पर लग रही सब्जी मंडी में खुलेआम लॉकडाउन की धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। सुबह होते हीं यहा  किसान अपनी सब्जी लेकर सब्जी के थोक विक्रेता के पास आते है,यँहा बड़ी संख्या मर मौजूद पल्लेदार उतारते चढ़ाते हैं और आढ़ती-खरीदार इनकी खरीद बेच करते हैं।
▶इस काम मे सेंकडो लोग रोज लगे नजर आते हैं । इससे लोगों को कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा बना हुआ है।हालांकि  चौकी इंचार्ज को मात्र चाट की रेहड़ी पर तो कोरोनॉ फैलाने वाली भीड़ नजर आती है और इन्हें लगने नही दे रहे लेकिन मंडी की भीड़ उनके ख़ास चश्मे में नजर नही आती हैं! 

▶वही क्षेत्र मे चल रही एम्बुलेंस कर्मियों की आये दिन जाम फसने शिकायत आती रहेती है इसके साथ ही छुटमलपुर रोड पर लगने वाली मंडी में उमड़ रही भीड़ लॉक डाउन की खुली धज्जियां उडा रही है। 
▶कुछ दिन पूर्व ही देहरादून मंडी से जुड़े वँहा के करीब आधा दर्जन आढ़ती ओर जिले के वँहा से जुड़े इतने ही लोगो की रिपोर्ट किरोना पॉजिटव आने से हड़कम्प मचा रहा था ।ऐसे में पुलिस की इन पर मेहरबानी ओर मंडी से जुड़े लोगों की लापरवाही यदि कोई कांड कर दे तो इसका जिम्मेदार कौन होगा ये अपने आप मे बड़ा सवाल है ?

Sunday, 14 June 2020

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम तथा श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने हेतु कैबिनेट मंत्री मोती सिंह ने जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक के साथ की समीक्षा
June 14, 2020 by

▶मनरेगा योजनान्तर्गत 15 जून तक 1 लाख मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराया जाये !कैबिनेट मंत्री मोती सिंह

▶राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन के अन्तर्गत गठित स्वयं सहायता समूहों को रोजगार उपलब्ध कराने की दृष्टि से मिड-डे-मील, राशन की दुकान आदि कार्यो को किया जायेगा आवंटित-कैबिनेट मंत्री मोती सिंह

 ▶प्रदेश के ग्राम्य विकास एवं समग्र ग्राम विकास विभाग मंत्री राजेन्द्र प्रताप सिंह ‘‘मोती सिंह’’ ने आज पुलिस लाईन के सईं काम्प्लेक्स के सभागार में कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव एवं रोकथाम तथा श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराये जाने हेतु जिलाधिकारी डा0 रूपेश कुमार एवं पुलिस अधीक्षक अभिषेक सिंह सहित अन्य सम्बन्धित अधिकारियों के साथ समीक्षा की। ▶प्रारम्भ में कैबिनेट मंत्री मोती सिंह ने पुलिस लाइन प्रांगण में सलामी ली। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा अवगत कराया है कि कोरोना संक्रमण के बचाव एवं रोकथाम हेतु शासन के निर्देशानुसार निरन्तर प्रभावी कार्यवाही की जा रही है, लगभग 60 हजार प्रवासी श्रमिक/कामगार जनपद में आये है जिन्हें होम क्वारेन्टाइन रखा गया जिन पर निगरानी के लिये ग्रामीण क्षेत्रों में ग्राम प्रधान की अध्यक्षता में ग्राम निगरानी समिति तथा नगरीय क्षेत्र में सभासद की अध्यक्षता में मोहल्ला निगरानी समिति के माध्यम से सतर्क दृष्टि रखी जा रही है। आशा, ए0एन0एम0 एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री के माध्यम से इनके स्वास्थ्य की प्रतिदिन समीक्षा की जा रही है तथा शासन के निर्देशानुसार सैम्पलिंग का कार्य किया जा रहा है। 

▶जनपद में अब तक कुल 94 कोरोना पाजिटिव केस पाये गये है जिनमें से 79 मरीज स्वस्थ्य हो चुके है तथा 11 मरीजों का ईलाज चल रहा है तथा जनपद में 16 हॉटस्पाट क्षेत्र है। 
 ▶बैठक में कैबिनेट मंत्री मोती सिंह ने कहा कि जिला प्रशासन द्वारा कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु कारगार प्रयास किये जा रहे है जिससे परिणाम स्वरूप में जनपद में संक्रमितों की संख्या एवं रिकवर होने का अनुपात प्रदेश के अन्य जनपदों की तुलना में बेहतर है। उन्होने स्वास्थ्य विभाग को निर्देशित किया कि स्वास्थ्य टीमों के माध्यम से नियमित रूप से सैम्पलिंग की जाये तथा संक्रमित पाये गये लोगों का शासन से निर्धारित स्वास्थ्य प्रोटोकाल के अनुसार ईलाज कराया जाये।
▶इसके साथ ही मंत्री जी ने कहा कि 15 जून तक प्रदेश में मा0 मुख्यमंत्री जी ने 1 करोड़ श्रमिक/कामगारों को रोजगार उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया है जिसके तहत जनपद प्रतापगढ़ में 1 लाख श्रमिक/कामगारों को रोजगार उपलब्ध कराया जाये। इसी तरह प्रधानमंत्री आवास की समीक्षा करते हुये परियोजना निदेशक डी0आर0डी0ए0 को निर्देशित किया कि आवास प्लस के अन्तर्गत जनपद में आवास हेतु अवशेष पात्र लाभार्थियों की सूची तैयार कर ली जाये ताकि भारत सरकार की अनुमति प्राप्त होते ही सभी को प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत आवास की सुविधा करायी जाये। परियोजना निदेशक द्वारा बताया गया कि जनपद में 2 लाख 32 हजार 253 पात्र लाभार्थियों का सर्वे कराया गया है 
▶जिसमें से 58 हजार 844 लाभार्थियों की आधार फीडिंग करायी जा चुकी है। प्रधानमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत वर्ष 2016-17 से वर्ष 2019-20 तक जनपद प्रतापगढ़ में अब तक 62696 आवास का लक्ष्य प्राप्त हुआ था जिसके सापेक्ष 61930 आवास का निर्माण पूर्ण कराया जा चुका है, अवशेष आवासों का निर्माण कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री आवास योजना के अन्तर्गत 1095 आवास के सापेक्ष 1000 आवास का निर्माण करा लिया गया है। डी0सी0 मनरेगा अजय पाण्डेय द्वारा अवगत कराया गया कि 82 हजार श्रमिक इस समय जनपद में मनरेगा योजनान्तर्गत कार्य कर रहे है, कैबिनेट मंत्री ने कहा कि 15 जून तक 1 लाख मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराया जाये तथा प्रवासी मजदूरों को जॉब कार्ड निर्गत किया जाये और उन्हें न्यूनतम 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराया जाये। 
▶योजनान्तर्गत धन की कोई कमी नही है इसलिये कोई भी इच्छुक श्रमिक/कामगार रोजगार से वंचित न रहे। समीक्षा में डी0सी0एन0आर0एल0एम द्वारा अवगत कराया गया कि जनपद में स्वयं सहायता समूहों के माध्यम से मास्क एवं सेनेटाइजर का निर्माण कराया जा रहा है। कैबिनेट मंत्री ने निर्देशित किया कि आगामी दिनों में स्वयं सहायता समूहों को मिड-डे-मील, राशन की दुकान आदि कार्य भी दिया जा सकता है, 
▶इसलिये स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को सशक्त बनाये तथा उचित प्रशिक्षण की व्यवस्था सुनिश्चित करें। जिला विकास अधिकारी को निर्देश दिया गया कि जिन विकास खण्डों का भवन जीर्ण-शीर्ण है वहां नये भवन निर्माण हेतु शासन को प्रस्ताव प्रेषित करें।

Saturday, 13 June 2020

जाति धर्म से ऊपर उठकर करें रक्तदान
June 13, 2020 by


रक्तदान🔷माहादान

देहरादून ब्लड डोनर ग्रुप ने इंसानियत का धर्म निभाया
देहरादून कैलाश हॉस्पिटल में पेशेंट संजय रावत S/F
  सुजान रावत जो उत्तराखंड चमोली का निवासी है
 11 जून 2020 को कैलाश हॉस्पिटल में एडमिट हुए थे
 और उनका किडनी का ऑपरेशन होना था डॉक्टरों ने
4 यूनिट ब्लड की जरूरत बताई और उनकी बहन
किरण बिष्ट 3 दिन से बहुत परेशान थी किसी भी
ब्लड बैंक से या कोई भी इंसान उनके मदद करने के लिए तैयार नहीं था

जैसे ही देहरादून ब्लड ग्रुप की मेंबर अंजुम परवीन दैनिक जनवाणी रिपोर्टर से उनकी मुलाकात हुई उसके बाद देहरादून ब्लड ग्रुप के प्रभारी परवेज सलमानी जी से संपर्क किया 
मौके पर परवेज सलमानी जी पहुंचे जिसमें 3 डोनर ब्लड O+ ग्रुप सदस्य भी साथ पहुँचे और इन लोगों ने ब्लड डोनेट किया

इस नेक कार्य में सभी को अपना बढ़-चढ़कर योगदान देना चाहिए
आज मौजूद रहें मोहम्मद नासिर  मोहम्मद शोएब श्री ओमवीर सिंह
ब्लड ग्रुप सदस्य अंजुम परवीन और
 देहरादून ब्लड ग्रुप के प्रभारी मोहम्मद परवेज सलमानी
जी

Wednesday, 10 June 2020

मुजफ्फराबाद वैदिक इण्टर कॉलेज के प्रबंधक नरेश स्वामी ने काॅलेज परिसर को कराया सैनिटाइज
June 10, 2020 by

✍रिपोर्ट-अब्दुल बारी राईन

🔷मुजफ्फराबाद/छुटमलपुर

🔷कोरोना वाइरस संक्रमण रोकथाम के लिए कॉलेज बिल्डिंग में कराया छिड़काव


 🔷नरेश स्वामी ने वैदिक इण्टर कॉलेज को सैनिटाइज करवाया ताकि इस वैश्विक महामारी से बचाव किया जा सके.
🔷मुजफ्फराबाद के वैदिक इण्टर कॉलेज को क्वारंटाइन सेंटर बनाया गया था उसके बंद होने पर कॉलेज सैनिटाइज करवाया 

🔷 प्रवासी मजदूर जो बाहर से आये थे उन्हें घर पर रहने की अपील की वही प्रधानाचार्य ब्रह्मपाल सिंह सभी से आग्रह किया की सभी लोग मास्क, ग्लव्स, जरूर पहने , साथ में सैनिटाइजर भी रखें.
🔷वही कुलदीप शर्मा ने जो बाहर से  आये प्रवासी मजदूरों को भी ने 14 दिन अपने घर में सामाजिक दूरी बना कर रहने का सलाह दिया ,
🔷इस मौके पर नरेश स्वामी , प्रधानाचार्य ब्रह्मपाल सिंह' प्रवक्ता राजदीप सैनी , कुलदीप शर्मा , ऋषिपाल सिंह आदि उपस्थित रहे ।

उत्तराखंड: प्रदेश में बेकाबू कोरोना, इन जिलों से आये 23 नए मामले, आंकड़ा पहुंचा 1560
June 10, 2020 by

रिपोर्ट-तबरेज़ आलम

देहरादून: उत्तराखंड में कोरोना का कहर लगातार जारी है,  स्वास्थ्य विभाग ने कोरोना संक्रमित मरीजो की लेटेस्ट रिपोर्ट जारी की है.  
जिसके तहत राज्य में आज 23 और नए मरीजो में कोरोना पॉजिटिव की हुई पुष्टि।जिसके बाद  प्रदेश मे कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1560 पहुंच चुका है, वही प्रदेश में अभी तक 808 कोरोना पॉजिटिव मरीज ठीक हो चुके हैं. आज 53 कोरोना पॉजिटिव मरीज कई अस्पतालों से डिस्चार्ज हुए। प्रदेश में मौजूदा कोरोना संक्रमितों के 730 केस एक्टिव है। राज्य मे अभी तक 33369 सैम्पल की रिपोर्ट निगेटिव आ चुकी है। अभी 4953 मरीजों की सैम्पल रिपोर्ट आना बाकी है. जबकि आज 1741 सैम्पल की रिपोर्ट निगेटिव आई है । और साथ ही आज टेस्टिंग के लिए 859 सैम्पल लैब में भेजे गए है।

आइए एक नजर डालते हैं, लेटेस्ट रिपोर्ट के कोरोना पॉजिटिव के जिलेवार आंकड़ो पर....
 ▶देहरादून -             06
 ▶नैनीताल -            06
 ▶यूएस नगर -         04
 ▶हरिद्वार -             03
 ▶टिहरी -               02
 ▶पौड़ी -                01
 ▶उत्तरकाशी -        01

वही कल राज्य में कुल 126 कोरोना के मामले सामने आये, जो देहरादून से 14, हरिद्वार से 3, बागेश्वर से 2 , टिहरी से 29, उत्तरकाशी से 1 सामने आये थे,

Tuesday, 9 June 2020

सिविल कोर्ट परिसर में आरओ वाटर प्लांट का जिला जज ने किया उद्घाटन, वादकारियों को किया समर्पित
June 09, 2020 by

रिपोर्ट-अखिलेश कौशिक  सहारनपुर:::::: सिविल कोर्ट परिसर में आईटीसी के सहयोग से निर्मित आरओ वाटर प्लांट का उदघाटन जिला जज सर्वेश कुमार ने किया!

▶जनपद न्यायालय में आयोजित लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए जनपद न्यायधीश सर्वेश कुमार ने कहा कि आरओ प्लांट के लगने से वादकारियों सहित अन्य लोगो जैसे अधिवक्ताओ ओर न्यायालय के कर्मचारियों को भी स्वच्छ पेयजल सुगमता से उपलब्ध हो सकेगा! 

▶इस दौरान सहारनपुर अधिवक्ता एससोसिएशन के अध्यक्ष राजेन्द्र चौहान , महासचिव राजीव कुमार गुप्ता,वरिष्ठ अधिवक्ता बिशम्बर सिंह पुंडीर,अनवार सिद्दीकी , पूर्व अध्यक्ष अरविंद कुमार शर्मा , अभय सैनी, सतेंद्र वर्मा,स्वराज सिंह,सौरभ जैन, संजीव शर्मा मौजूद रहे! 

▶सहारनपुर अधिवक्ता एससोसिएशन ने इस पुनीत कार्य के लिए जिला जज को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए आईटीसी लिमिटेड को सम्मान पत्र भी भेंट किया ।

उत्तराखंड में अन्य राज्यों से बिना पास के आवाजाही करने की मिली अनुमति।
June 09, 2020 by

रिपोर्ट-तबरेज़ आलम अमीरी  

देहरादून::: देशभर में कोरोना महामारी ने हाहाकार मचा रखा है, दिन प्रति दिन कोरोना के मामले सामने आ रहे है। पूरे देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 2 लाख 65 हजार 928 पहुंच गयी है।


▶अगर वही केवल उत्तराखंड की बात करे तो उत्तराखंड में कुल संक्रमितों की संख्या 1411 पहुंच गए है। अब आप खुद अनुमान लगा सकते है कि  उत्तराखंड में भी कोरोना कितने तेज़ी से फैल रहा है।

▶कल 8 जून से सभी की छूट मिल गयी है। होटल, मंदिर, मॉल आदि सभी खोलने की अनुमति मिल गयी है। इसी बीच आवाजाही करने वालो के लिए एक अच्छी खबर सामने आ रही है जी हां आज से अन्य राज्यों से भी आवाजाही शुरू हो जाएगी।
▶इसके लिए उत्तराखंड  सरकार ने गाइडलाइन भी जारी कर दी है। जिसके मुताबिक अब दूसरे राज्यों से उत्तराखंड आने वालों को पास की जरूरत नहीं होगी उन्हें अब केवल खुद का रजिस्ट्रेशन प्रदेश सरकार के वेब पोर्टल पर कराना होगा।

▶बता दे कि सरकार ने मुंबई और दिल्ली के सभी जिलों के अलावा अन्य राज्यों के 29 ऐसे जिलों की सूची जारी की है, जिन्हें संक्रमण के लिहाज से संवेदनशील माना गया है।

▶यहां से आने वालों को सात दिन संस्थागत और 14 दिन होम क्वारंटाइन में रहना होगा। हालांकि, सरकारी कार्यों के लिए आने जाने वाले न्यायिक सेवा के न्यायिक अधिकारी,

▶केंद्र सरकार, प्रदेश सरकार, पब्लिक सेक्टर यूनिट और केंद्र व राज्य सरकार के संस्थानों के अधिकारियों को क्वारंटाइन से छूट दी गई है।

▶संवेदनशील जिलों में किसी काम से जाने वालों को वापसी पर 14 दिनों के होम क्वारंटाइन पर ही रहना होगा। दूसरे राज्यों से आने वाले ऐसे लोग, जो औद्योगिक प्रबंधन, वाणिज्यिक कार्यों अथवा तकनीकी विशेषज्ञ के तौर पर आएंगे,

▶उन्हें संबंधित संस्थाओं द्वारा आवंटित क्वारंटाइन सेंटरों में रहना होगा। यहीं से ये लोग संबंधित संस्थाओं तक आएंगे। कार्य समाप्त होने के पश्चात ये वापस चले जाएंगे। इन पर 14 दिनों के क्वारंटाइन का नियम लागू नहीं होगा।
▶8 मई को मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह द्वारा जारी आदेशों के अनुसार दूसरे राज्यों से आने वालों को https://dsclservices.in/uttarakhand-migrant-registration-php पर अनिवार्य रूप से रजिस्ट्रेशन कराना होगा।

▶संवेदनशील क्षेत्रों से आने वालों में से केवल गर्भवती महिलाओं, 65 वर्ष से अधिक आयु के बुजुर्गो, गंभीर बीमार, परिवार में मृत्यु और 10 साल से छोटे बच्चों के अभिभावकों को ही संस्थागत क्वारंटाइन से छूट मिलेगी।

Sunday, 7 June 2020

राज्य सरकार ने जारी किए आदेश कल से क्या खुलेगा, क्या रहेंगे नियम
June 07, 2020 by

देहरादून:::: कोरोना महामारी के बढ़ते प्रकोप को देखते हुए बीते 30 मई को सरकार ने कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन को 30 जून तक बढ़ाने की घोषणा कर दी थी, 


और कंटेनमेंट जोन के बाहर चरणबद्ध तरीके से गतिविधियों को शुरू किया जाएगा। गृहमंत्रालय की ओर से जारी आदेश में कहा गया है कि देश के सभी कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन 30 जून तक जारी रहेगा।

कंटेनमेंट जोन की पहचान जिला अधिकारियों के द्वारा की जाएगी। कंटेनमेंट जोन में केवल जरूरी गतिविधियों की छूट रहेगी। कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन नियमों को सख्ती से लागू करने को कहा गया है। 


मेडिकल इमर्जेंसी के अलावा किसी व्यक्ति को कंटेनमेंट जोन से बाहर जाने या बाहर से से कंटेनमेंट जोन में जाने की इजाजत नहीं होगी। आइये अब आपको बता दे कि राज्य सरकार के जारी किए आदेश कल से क्या खुलेगा, क्या रहेंगे नियम।

रमेश पोखरियाल निशंक ने किया ऐलान , 15 अगस्त के बाद खुलेंगे स्कूल-कॉलेज
June 07, 2020 by

नई दिल्ली:::: कोरोना संकट और देश व्यापी लॉक डाउन में स्कूल-कॉलेजों के खुलने पर लगातार भ्रम बना हुआ है. साथ ही अभिभावक की बड़ी चिंता बच्चों की पढ़ाई को लेकर भी है. इसी चिंता को दूर करने के लिए मानव संसाधन विकास मंत्री निशंक रमेश पोखरियाल ने कहा है कि 15 अगस्त के बाद स्कूल कॉलेजों को खोला जायेगा।


डॉ. रमेश पोखरियाल ने एक इंटरव्यू में ये बातें कही हैं कि मंत्री के इस ऐलान से छात्रों के साथ ही पैरेंट्स को भी थोड़ी राहत मिली है.उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि 15 अगस्त के बाद शैक्षणिक संस्थान खुल जायें।

 रमेश पोखरियाल निशंक ने किया  ऐलान , 15 अगस्त के बाद खुलेंगे स्कूल-कॉलेज।
आपको बता दें, इस संबंध में दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने एचआरडी मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक को स्कूल पुनः खोलने की योजना पर पत्र लिखा था. इस बात की जानकारी उन्होंने कल ट्वीट के माध्यम से दी थी. उन्होंने अपने पत्र में लिखा था, “समय आ गया है कि कोरोना के सहअस्तित्व को स्वीकार करते हुए देश में स्कूलों की भूमिका नए सिरे से तय की जाए..


आपको बता दें, कोरोना वायरसमहामारी के कारण दिल्ली के सभी स्कूल- कॉलेज मार्च महीने से बंद हैं. ऐसे में ऑनलाइन पढ़ाई करवाई जा रही है, लेकिन इस बात से भी मुंह नहीं मोड़ा जा सकता है कि कहीं न कहीं छात्रों की पढ़ाई का नुकसान भी हो रहा है।
मनीष सिसोदिया ने अपने पत्र में लिखी थी ये बातें

▶कोरोना के साथ जीने के दौरान दुनिया में शिक्षा में बड़े बदलाव होंगे, अपनी आवश्यकतानुसार स्कूलों का पुनर्निर्माण करें, हम इंतजार न करें कि अन्य देश कुछ कर लें, तो हम उसकी नकल करें.

▶हम अपने बच्चों को एक बेहतर और ज्यादा ख्याल करने वाले स्कूल दें. 

▶सभी स्टेकहोल्डर्स के साथ परामर्श करके स्कूल अपनी जरूरत और संसाधनों को ध्यान में रखते हुए अपनी योजना स्वयं बना सकें.

▶अभी स्कूलों को सपोर्ट की आवश्यकता होगी, बच्चों की तरह ही शिक्षा जगत से जुड़े सभी लोगों और स्कूलों को भी सीखने और जिम्मेदार बनने की जरूरत है।
कब होंगी बची हुई परीक्षाएं और प्रवेश परीक्षा

CBSE बोर्ड परीक्षा 1 जुलाई से 15 जुलाई तक आयोजित की जाएगी, ICSE / ISC परीक्षा 1 जुलाई से शुरू होकर 12 जुलाई तक चलेगी.

NEET और JEE की परीक्षा जुलाई में होगी. NEET की प्रवेश परीक्षा 26 जुलाई और JEE की प्रवेश परीक्षा 18 जुलाई से 23 जुलाई तक होगी.

उत्तराखंड में बढ़ता हुआ कोरोना का कहर, सामने आये 38 नए मामले, कुल आंकड़ा पहुंचा 1341
June 07, 2020 by

देहरादून: प्रदेश में अभी 2:30 बजे की हेल्थ बुलेटिन के अनुसार 38 कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आये है। उत्तराखंड में बढ़ता कहर।

यह मामले:-


▶बागेश्वर से 6
▶चम्पावत से 1
▶देहरादून से 3
▶हरिद्वार से 14
▶नैनीताल से 2
▶टिहरी से 3
▶उधमसिंह नगर से 2
👉 प्राइवेट लैब 7  मामले  सामने आये है। जिसके बाद  से प्रदेश में संक्रमितों की संख्या 1341  गयी है। वही  शनिवार को कोरोना के 89  नए मामले सामने आए थे।
 उत्तराखंड में आये 1303 मामले 

उत्तराखंड में अब बहुत तेज़ी से कोरोना का कहर बढ़ता जा रहा है, लगातार कोरोना के मामले सामने आ रहे है। कल प्रदेश में कुल संक्रमितों की संख्या 1303 पहुंच गयी थी।

वही कल देर रात राज्य में एक और कोरोना संक्रमित मरीज की मौत हो गयी है। यह मरीज देहरादून में भर्ती था। अब तक उत्तराखंड में कोरोना से कुल 13 मौत हो चुकी है।
इस तरह फैला कोरोना 

उत्तराखंड में अब कोरोना पूरी तरह पैर पसार चुका है. उत्तराखंड में कोरोना तब बड़ा जब से जमातियों का आगमन शुरू हुआ इसके बाद से कोरोना के मामलों में उछाल आया.

दो अप्रैल के बाद जमात से जुड़े लोगों के केस आने शुरू हुए। दो अप्रैल को तीन जमाती कोरोना पॉजीटिव निकले तो फिर यह सिलसिला बढ़ता चला गया।

24 अप्रैल आते-आते उत्तराखंड में कुल पॉज़िटिव केसों की संख्या 48 पहुंच चुकी थी, जिनमें 39 अकेले जमात से जुड़े हुए लोग थे. 26 अप्रैल से दूसरे केस भी आने लगे।

फिर आये प्रवासी, इनके आने के बाद प्रदेश में मानो तबाही जैसी आ गयी। प्रवासियों के आगमन के बाद उत्तराखंड में कोरोना थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। दिन प्रतिदिन कोरोना के मामलो में उछाल आ  रहा है।




Friday, 5 June 2020

आज आये 62 नए मामले, कुल संक्रमितों की संख्या पहुंची 1215
June 05, 2020 by

देहरादून:::: उत्तराखंड में कोरोना ने हाहाकार मचाया हुआ है, लगातार कोरोना के मामले सामने आ रहे है। आठ बजे की जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार अभी देहरादून से 8, चम्पावत से 1, नैनीताल से 4, टिहरी से 2, उधमसिंह नगर से एक मामला सामने आया है। जिसके बाद से उत्तराखंड में कुल संक्रमितों की संख्या 1215 हो गयी है

आपको बता दे कि दो बजे की जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार प्रदेश में कोरोना के 46 नए मामले सामने आये थे जिसके बाद से प्रदेश में कुल संक्रमित मरीजों का आकड़ा 1199 पहुंच गया था। वही इसी कोरोना ने मंत्रिमंडल में में हलचल मचा रखी है कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज के कोरोना पॉजिटिव आने के बाद से उत्तराखंड की सियासत ने एक अलग ही रूप ले लिया है, लगातार विपक्ष की तरफ से सतपाल महाराज के खिलाफ धारा 307 के तहत मुकदमा दर्ज करने की मांग की जा रही है।


Thursday, 4 June 2020

'डिजिटल व ऑनलाइन शिक्षा' के नाम पर क्या होने वाला है भारत मे? उसी पर आधारित देश के सबसे शिक्षित राज्य केरल की हाल ही में घटी एक घटना
June 04, 2020 by

ऑनलाइन क्लास में शामिल नहीं हो सकी तो छात्रा ने खुद को लगाई आग, पिता ने कहा- घर में इंटरनेट कनेक्शन वाला मोबाइल नहीं है 


ऑनलाइन-डिजिटल टाइप आधुनिक मादक शब्दों के दीवानों के लिए और उनके लिए भी जो एक गर्भवती हथिनी की दुखदाई और जघन्य हत्या के लिए शोकाकुल हैं ,उनके लिए भी जो चंद आपराधिक मामलों पर सेलेक्टेड तरीके से अपना आक्रोश व्यक्त करते हैं लेकिन शासन-प्रशासन की आपराधिक कार्यवाहियों पर घनघोर चुप्पी साध जातें हैं...
▶लड़की ने आत्महत्या कर ली,वह नौवीं पास करके हाल ही में दसवीं कक्षा मे आई थी.
▶लड़की का स्कूल लॉकडाउन की वजह से बंद था.
▶सरकार ने ऑनलाइन कक्षा की शुरुआत की थी.
▶ लड़की उस ऑनलाइन कक्षा में शामिल नहीं हो सकी थी.
▶ लड़की के घर में टीवी था, जो खराब पड़ा था, स्मार्टफोन नहीं था.
▶ लड़की के दिहाड़ी मजदूर पिता के पास लॉकडाउन में कोई रोजगार नहीं है.
▶ लड़की पढ़ने में तेज थी, लेकिन ऑनलाइन क्लास नहीं अटेंड कर सकी.
▶ लड़की को लगा कि अब ऐसे ही ऑनलाइन क्लास होगी.
▶ लड़की के पास कंप्यूटर या स्मार्टफोन नहीं था.
▶ लड़की को लगा कि अब उसकी क्लास ही नहीं,पढ़ाई भी छूट जाएगी.
▶ फिर लड़की ने आत्महत्या कर ली😭😭😭
▶ यह कोरोना से कामयाबी से लड़ने वाले केरल के मलप्पुरम की 'कहानी' है!😢😢😢
🔷दरअसल देश भर में सरकारों ने जिस वजह से नियमित स्कूलों को खत्म करने की ओर कदम बढ़ाया है और 'ऑनलाइन शिक्षा' का दामन थामा है, उसका असली मकसद और हासिल यही है!
🔷 आप देखिएगा... फिलहाल तकनीकी संसाधनों तक पहुंच, गरीब परिवारों की माली हालत और जागरूकता का जो आलम है, उसमें यह 'ऑनलाइन शिक्षा' देश की दलित-पिछड़ी-आदिवासी और मुस्लिम आबादी के ज्यादातर हिस्से को समूची शिक्षा के दायरे से बाहर कर देगी। यह इन तबकों को सत्ता के हर केंद्र से बाहर करने का हथियार साबित होगा।
🔷हां इन तबकों के लोगों को मुफ्त के मजदूर या एक्सपेरिमेंट के लिए कीड़े-मकोड़े की जिंदगी का मेरिट बख़्शने में कोई कमी नहीं की जाएगी..!
🔷 आर्थिक और शैक्षिक रूप से कमजोर लोग गुलामी के लिए आसानी से मुहैया हो जाते हैं ।
🔷 नौवीं में पढ़ने वाली जिस लड़की ने आत्महत्या की, वह 'दलित' थी!
(सबसे पहले यह तथ्य लिखने पर कई लोग इस पोस्ट को शायद नहीं पढ़ते। अमेरिका में बहुत सारे गोरे वहां काले लोगों की तकलीफ और गुस्से में साथ खड़े हैं!)

एडवोकेट सन्नी गौतम
समाजसेवी
सहायक सम्पादक
हिंदुस्तान Live TV

Wednesday, 3 June 2020

अभी आये 23 नए कोरोना के मामले, कुल संक्रमितों की संख्या पहुंची 1066
June 03, 2020 by

देहरादून/कोरोना अपडेट

उत्तराखंड में कोरोना का आकड़ा एक हजार पार पहुंच चुका है

आज 2 बजे की जारी हेल्थ बुलेटिन के अनुसार, चमोली से 4, देहरादून से 1, हरिद्वार से 9, नैनीताल से 1, पौडी से 1 और 7 प्राइवेट लैब से कुल 23 मामले सामने आये है। जिसके बाद से प्रदेश में कुल कोरोना संक्रमितों की संख्या 1066 पहुंच गयी है। अब तक 295 मरीज ठीक हो चुके हैं।
मैक्स अस्पताल में भर्ती एक कोरोना पॉजिटिव मरीज की मौत हो गई. मौत का कारण दिल का दौरा पड़ना बताया जा रहा है।
 मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. बीसी रमोला ने बताया कि अस्पताल से इस संबंध में विस्तृत जानकारी मांगी गई है। 
सीएमओ डॉ. रमोला ने बताया कि सहारनपुर के एक व्यक्ति की तबीयत बिगड़ने पर परिजन उन्हें मैक्स अस्पताल में ले गए थे।

Monday, 1 June 2020

पुलिस मुठभेड़ में पांच बदमाश गिरफ्तार,एक जिन्दा गाय सहित तमन्चा,कारतूस,बाईक एवंम गौकशी के कई उपकरण हुए बरामद
June 01, 2020 by

✍ब्यूरो रिपोर्ट-अफजल अली बेहट 

फतेहपुर/सहारनपुर
थाना फतेहपुर पुलिस व बदमाशों के बीच चली जबरदस्त मुठभेड़ में,पुलिस ने 5 बदमाशों को हथियारों,जिंन्दा गाय एवंम पल्सर बाईक सहित किया गिरफ्तार।पुलिस का कहना था कि यदि वे इन बदमाशो को पकड़ने में जरा भी चूक कर देते,तो एक और गाय इन गौवशों की भेंट चढ़ जाती आपको बता दे कि सूचना पर ग्राम कमेशपुर निवासी नोशाद के मकान में बने एक बेसमेंन्ट में,जैसे ही पुलिस ने छापा मारा तो यहां सक्रिय कुछ बदमाशो ने पुलिस पार्टी पर फायर झोंक दिया,पुलिस ने भी साहस का परिचय देते हुए,मोंके से भागते पांच बदमाशो को पकड़ लिया।पकड़े गये पांचो बदमाशो तहजीब पुत्र शफीक निवासी ग्राम गन्देवडा,दानिश पुत्र अनीस निवासी ग्राम गन्देवडा,एवम अनीस,आबिद,नोशाद के कब्जे से एक देशी तमन्चा,तीन जिन्दा  कारतूस एक खोखा ,एक काली पल्सर मोटर साइकिल,जिन्दा
गाय व गौकशी करने के उपकरण बरामद किये पुलिस ने सभी के चालान कर जेल भेज दिए गए हैं