उत्तराखंड में शराब हुई महंगी, लिए कई बड़े फैसले, पड़े पूरी खबर

देहरादून: उत्तराखंड कैबिनेट में आज कोरोना वायरस से डूबती अर्थव्यवस्था को उबारने के लिए कुछ महत्वपूर्ण फैसले लिए गए। प्रदेश मंत्रिमंडल की बैठक में शराब पर कोविड टैक्स और पेट्रोल-डीजल की कीमतों में इजाफे करने की मोहर लगा दी है।  वहीं, बाहरी राज्यों से लोगो को हरिद्वार में अस्थि विसर्जन की अनुमति मिलेगी। अस्थि विसर्जन करने के लिए अधिकतम दो लोग ही आ सकते हैं। प्रदेश सरकार ने माली हालत सुधारने के लिए आज हुई कैबिनेट बैठक में अहम फैसला लिया है। दिल्ली की ही तरह उत्तराखंड में भी सरकार ने शराब पर कोविड टैक्स लगाया गया है। यही नहीं, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में भी इजाफे किए हैं। आमदनी ठप होने से प्रदेश सरकार की मुश्किलें बढ़ गई थीं। अब इन मुश्किलों से पार पाने के तरीके ढूंढे गए हैं। आमदनी में इजाफा नहीं हुआ तो विकास कार्य, निर्माण कार्य तो दूर की बात कर्मचारियों को वेतन देने के लाले पड़ सकते हैं। दरअसल, राजस्व प्राप्त करने के लिहाज से अप्रैल का महीना तकरीबन सूखा गुजरा है। मई महीने में स्थिति में बड़ा बदलाव आने की उम्मीद कम ही है।
  • आबकारी विभाग के अंतर्गत 250 करोड़ राजस्व का आँकलन
  • शराब में उत्तराखंड सरकार लेगी हेल्थ केयर टैक्स
  • भारत में निर्मित विदेशी मदिरा 20 से 200 तक महंगी
  • देशी मदिरा में 20 रुपये बढ़ाये गए
  • पेट्रोल में 2 रुपये और डीजल 1 रुपये बढ़ाया गया
  • 120 करोड़ का राजस्व आने की उम्मीद