कोरोना का कहर: लॉकडाउन के बीच जरूरतमंदों को "हापुड़ पीआरवी पुलिस" ने बांटा खाना


जनपद हापुड़

कोरोनावायरस फैलने की श्रृंखला को तोड़ने के लिए पूरा देश में लॉकडाउन है. कोरोना के इस संक्रमण काल में जहां आम से लेकर खास की परेशनियां बढ़ी हैं, वहीं कई नजरें दूसरे की तरफ उम्मीद से देख रही हैं. कई इलाकों में जरूरी सामान की किल्लत महसूस की जा रही है. ऐसे में कई स्वयंसेवी संस्थाएं और सामाजिक लोग इन बेसहारा और असहायों की उम्मीदों को पूरा करने के लिए सामने आए हैं. हापुड़ पुलिस भी ऐसे लोगों की मदद करने में पीछे नहीं हट रही है.
जिसमें कोई भी 112 पर कॉल करके राशन ले सकता हैं
लॉक डाउन के बीच उत्तर प्रदेश की हापुड़ पुलिस जरूरतमंदों तक पहुंचने की कोशिश कर रही है. जो भूखे हैं उन्हें अपने हाथों से खाना दे रही है. सामाजिक संस्थाओं का भी पुलिस को इसमें सहयोग मिल रहा है. शुक्रवार को हापुड़ पुलिस ने बेसहारा और असहाय लोगों के लिए खाना बनाया और गरीब मजदूरों को "चावल सरसों का तेल व आटा आदि समान" दिया गया है. इससे पहले बाकायदा गरीबों के हाथों को सैनिटाइज कराकर उन्हें कोरोना वायरस के बारे में जानकारी दी गई.
जिनके पास खाने का राशन नहीं है और दूध की भी किल्लत है, उनका ख्याल भी पुलिस रख रही है. *"हापुड़ पुलिस के 112 के प्रभारी निरीक्षक अनुराग शर्मा कांस्टेबल मोहम्मद आदिल खान और कांस्टेबल अरविंद कुमार"* ने जनपद हापुड़ की सभी पीआरवी पर रह के पैकेट वितरित किए जिससे कि कोई भी व्यक्ति 112 पर कॉल करके जो केवल जरूरतमंद हो यह सामग्री प्राप्त कर सकता है चौराहे के पास ऐसे ठेले वाले रेहड़ी वाले गरीबों और मजदूरों को ना सिर्फ राशन मुहैया कराया बल्कि यह आश्वस्त भी कराया है कि अगले 14 अप्रैल तक जब तक लॉकडाउन हट नहीं जाता उन्हें राशन मुहैया कराया जाएगा.