स्वच्छ भारत मिशन की इस अभियान को पलीता लगाने मे प्रशासन के अधिकारी कोई कसर छोड़ने से बाज नही आ रहे है


रिपोर्ट-अफज़ल अली राईन

बिहारीगढ/सहारनपुर

देश के प्रधानमंत्री व प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ जहां स्वच्छता को लेकर के यहां गंभीर दिखाई दे रहे हैं वही दूसरी तरफ उनके आला अधिकारी उनके स्वच्छता मिशन अभियान पर पलीता लगाने में, कोई कसर नहीं छोड़ रहे हैं। ऐसा ही एक मामला ब्लॉग मुजफ्फराबाद के ग्राम पंचायत थापुल इस्माईलपुर के अंतर्गत कस्बा बिहारीगढ में स्वच्छ भारत मिशन की इस अभियान को पलीता लगाने मे प्रशासन के अधिकारी कोई कसर छोड़ने से बाज नही आ रहे है वैसे तो पीएम मोदी के स्वच्छ भारत मिशन को लेकर प्रशासन और अधिकारी कई तरह के दावे करते रहते है वही कस्बे क्षेत्र की हालत जगह जगह तालाब, मुख्य चौराहो,सड़को, गली मौहल्लो मे  कूड़े के ढेरो पर आवारा पशुओ का तांता लगा रहता है सफाई की लचर व्यवस्था अधिकारीयो व जनप्रतिनिधियो के दावो की पोल खोल रही है जिससे ग्रामीणो को भी दिक्कतो का सामना करना पड रहा है ग्रामीणो ने बताया कि तालाब मे कुछ ग्रामीणो द्वारा गंदगी डाली जा रही है जिससे तालाब के पास से गुजरने वाले लोगो को दुर्गध का सामना करना पड रहा है साथ ही गांव मे भी दुर्गंध फैलती जा रही है कस्बा बिहारीगढ मे सफाई ,पानी,सड़क नालियो, शौचालय जैसी सुविधाये उपलब्ध नही है कस्बे मे महिलाओ के शौचालय नही होने से कस्बे मे स्थित निजी घरो के शौचालय मे जाना पड़ता है। कस्बे मे सैकड़ों की संख्या में लोगों का प्रतिदिन आना जाना लगा रहता है। मगर यहां सार्वजनिक शौचालय नहीं होने से लोगों को भारी परेशानी हो रही है। ग्रामीणो ने बताया कि कस्बे क्षेत्र मे कहीं पर भी शौचालय की व्यवस्था नहीं होने से स्थानीय लोगों के अलावा बाहरी लोगों को भी खासी परेशानी झेलनी पड़ रही है।